Complicated thoughts #rk 109

i know you can’t be happy with me

but i can.

i know you can’t always be with me

but i can.

i know you can’t wait for me

but i can.

it’s not that i like you.

it’s not that you are that true.

it’s not that we have much time.

it’s just that may be i’m not ment for you.

it’s just that you surely deserve better.

it’s just that we have no future.

Sometimes in life when you love or like someone but can not tell them cause you know the time is not right and never will be,this is what happens throughout the mind. May be it’s not so right to suppress yourself in such way , don’t know. I think we can just love someone without telling them,they will know it in our ways,our care,our thoughts.

When people meet they try to blend,they wait for trust in all the ways.

Making up the mash or getting in the trash ,out of emotions they burst like guest.

Nothing does matter in care of suspense,neither does these words in last sentence.

Advertisements

Blaming #rk 108

At start he kept me unknown to this world and now assumes that I should have already known it.
At start I knew it’s not enough but he said to follow the rules ,be regular, be good.
Now I see it wasn’t necessary at all.
Now I see it was making me loose my instincts that I regret now.
I was never ment to be like this.
Wasn’t good at fitting in,still not.
But can’t loose hope .
Everything will be alright.
God must be watching all the way that I lived this long.

~ myjoopress

छोड दो … #rk 107

छोड दो

मुझे मेरे हाल पे तुम सब .. छोड दो

मोड लो

मेरे रिश्ते से अपना मुँह तुम … मोड लो

इस राह पे….चलना मुझको अकेला.. है पता

ना अपने तुम.. यूँ साथ का .. दो सिला

छोड दो

मुझे मेरे हाल पे तुम सब .. छोड दो

मोड लो

मेरे रिश्ते से अपना मुँह तुम … मोड लो

उस राह की…जो ना मिली.. क्या दूँ दुआ

उस चाँद की… इक चाँदनी … सुलझा हुआ

मदमस्त सी किसी शाम की ना थी खबर

मेरी चाय जो अब फीकी है… किसका असर

छोड दो

मुझे मेरे हाल पे तुम सब .. छोड दो

मोड लो

मेरे रिश्ते से अपना मुँह तुम … मोड लो…

तन्हा राहें …. तन्हा अन्धेरा…..

मेरे दिन का..यही सवेरा

बाते किस्सों का वो पहरा….आ….

बाते किस्सों का वो पहरा

भूला बिसरा इक कोई चेहरा…

मुझे याद है,…. कोई साथ है

पर अब नहीं … सब राख है

मैं ढूँढू ना.. अब कोई घर

कुछ बाँधे ना .. अब कैसा डर

तो छोड दो ….मेरी चाह को……

तो छोड दो ….मेरी चाह को……

तुम मोड लो इस राह को…. आ…

छोड दो

मुझे मेरे हाल पे तुम सब .. छोड दो

अब मोड लो

मेरे रिश्ते से अपना मुँह तुम … मोड लो

छोड दो…..अब छोड दो.. हाँ छोड दो.

– ऋषभ कुमार

insta @myjoopress

©rishabhmyjoopress

How much to say #rk 106

कितना कुछ कहना तुझसे

पर तू सुनने को तैयार नही

इस भीड मे भी अकेला रहा मैं

शायद तुझे खबर नही

करता चला अश्को को

पन्नो पर मैं बयाँ

काश पढ लेती आँखों को

पर तुझे तो कदर नही

तेरी दुनिया की भी खबर ना मुझको

शायद मै तेरा हमसफर नहीं

सुन लेता तेरी बातें भी

पर शायद मै उस काबिल नहीं

शब्द मेरे छेडते तुझे

पर कभी तो कुछ बात थी

वक्त बीतते सदियों से थे

पर शायद अब मेरी औकात नही


How much i have to say

don’t you know, don’t you see

All alone in crowd of world

don’t you care, don’t you feel

May be someday,you trust me well

not as groom but as a friend

May be someday,you do feel

i was there on the stair

Childhood adult and old

young ripe and gold

all time to spend with you

is my goal that i still hold.

Open up mind #rk 105

Open up
Mind.
Don’t give up.
Smart is new kind.
Get mix up.
Time lags
Perturb it
make your move
Cracked life
heal it
Don’t fall in loop.

Nevermind all foes

cause it all is life

waking you up

from the mystry night.

Leisure you have

in all these time

use it well

You have to decide

Sit or stand

Or mock with mind

Get true with self

some nasty kind

You had a view all long in time

Live in the moment

and get unwind

You’re not machine

and not a priest

protect your laugh

wake up that beast.

The young you loose

Get elder in cry

Old gets cloth

some torn inside

You have your chance

this beautiful guide

unlock yourself

as a crazy mind

People can talk

all day they want

why do you fear

in past days clock.

You got to prove

all of them wrong

cause you’re destined

to peel off some mask

Some roots in time

Some cliimbs defined

Some memories are waiting

So open up mind.

-Rishabh kumar

हम करते हैं..😯 #rk 104

हम दिखावा करते हैं
आँखे खुली होने पर भी बन्द रखते हैं
जाति धर्म में हम सब इंसानियत बाँट लेते हैं
धर्म की रक्षा के लिए अपनी हम जान रखते हैं
हम दिखावा करते हैं

हम दिखावा करते हैं
जो है हर जगह, उसकी तलाश में कोसो घूम लेते है
अपनों का ही दिल हम किसी दराज रखते है
अच्छे बुरे के फेर में सच नजरअंदाज करते है
हम दिखावा करते हैं

हम दिखावा करते हैं
लोगों के साथ की खातिर आयोजन सरेआम करते है
गम दिलों के छिपा करके खुशमिज़ाज दिखते है
गैरों की खातिर अपनों का दिल तार तार करते है
हम दिखावा करते हैं

हम दिखावा करते हैं
दिखावे की जंग जीते है
मिलता नहीं अगर मुकाम तो
दोषारोपण भी कर लेते हैं

हम दिखावा करते हैं
©rishabhmyjoopress