ऐ लडके, ओ शैतान


ऐ लडके, ओ शैतान,
घर बैठा, चादर तान।
कुछ काम कर, कुछ नाम कर,
क्यूँ करता बस आराम।

ऐ लडके, ओ शैतान,
नहीं बँटाता कहीं कोई हाथ।
बस रोटी तोड़ता मुफ्त की,
कहूँ कुछ तो कहे, कुछ है काम।

ऐ लडके, ओ शैतान,
तू जन्मा ही गुस्ताख़,
हर नारी पर तू तंज कसे,
तू है ही बदनाम।

ऐ लडके, ओ शैतान,
मैं हारा, दे आराम।
क्या चाहता, तू दे बता,
कौन देगा तेरा कोई दाम।

ऐ लडके, ओ शैतान,
तू लेता सबकी जान।
खुद में लड़े, सबकी सुने,
ना करे जो खुद को भान।

ऐ लडके, ओ शैतान,
तेरा क्यों होगा कोई स्थान।
किया ही क्या, तूने भला!
क्यों होगा तेरा मान।

by Lucas Allmann


ओ वक्ता, ओ नादान,
मैं लड़का, मुझको भान।
करता जतन, हर एक मनन,
क्यों हुआ मैं यूँ बदनाम।

ओ वक्ता, ओ नादान,
राही मैं भी हूँ अंजान।
नये रास्ते, मैं भी खोजता,
नहीं दिखाता कोई सुख धाम।

ओ वक्ता, ओ नादान,
माना अभी नहीं कोई नाम।
नहीं हैसियत, मुझे आँके तू,
तू भी है एक इंसान।

ओ वक्ता, ओ नादान,
बलिदानी, मुझको मान।
हाँ है पता, कुछ हैं वजह,
शर्मिंदा दिल सरेआम।

ओ वक्ता, ओ नादान,
तू बोले बस ले आड़।
अभिमानी अगर, कारण बता,
क्यों छीना मुझसे स्थान।

ओ वक्ता, ओ नादान,
मैं भी हूँ एक इंसान।
गलती करूँ, क्षमायोग्य बनूँ,
क्या करेगा कोई क्षमादान!
-ऋषभ कुमार

by Daria Shevtsova

featured image by Ashutosh Jaiswal


Note from the Author

Copyright 2020 (All rights reserved)
Copying of the content and image is not permissible. The writers put in their souls in writing a piece of literature. A prior permission of the author of the blog and the collaborating party is mandatory, if in a collaboration, before using the content or the image (which has been created by the author of the blog or the collaborating party in a collaboration).

You can also join myjoopress through Facebook Twitter Instagram and also on YouTube now.

12 Comments

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.