हैं दोस्त, तो दोस्ती का एहसास बन सकते हैं


ज्यादा कुछ नहीं हम बातें तो कर सकते हैं जब समझ आए ना हालात जज्बात बन सकते है दिला सकते हैं हौसला, विश्वास खुदपे रखने का हैं दोस्त, तो दोस्ती का एहसास बन सकते हैं लिख सकते हैं पन्नों पर जो कुछ कभी हो कहना खामोश रह कर भी हम साथ दे सकते हैं पिला … Continue reading हैं दोस्त, तो दोस्ती का एहसास बन सकते हैं