Stop consuming everything


As the day starts, what's the first thing that you do? Well, I hadn't thought much earlier. But found that before going to sleep and after I wake up, the first thing I did was using my mobile. Mostly I guess, it's been a habit of all whoever is bored of this extra corona time … Continue reading Stop consuming everything

Don’t die


You won't die trying. You can die living the life you hate. May you guys have heard this quote earlier or felt its depth. It's not just life. It's not just days. ❣ ❣ ❣ ❣ ❣ ❣ ❣ ❣ ❣ ❣ ❣ It isn't all the lies. It isn't all the ways. ❣ ❣ … Continue reading Don’t die

Used up


Used to have enthusiasm. But shortly don't have. Meet someone, but to whom should've. Go around but where? Call someone, who cares? When the peace of mind Drained, right? Drained up like dried. The hope disguise. As lacking some things, To revive. The problems or dares, Are yet to assimilate. The kind of life we … Continue reading Used up

कोई यह नहीं समझता


कि आपको इस वक्त क्या चाहिए क्या आपको किसी अपने का साथ चाहिए क्या आपको खुद का आत्मविश्वास चाहिए कोई ये नहीं समझ सकता सिवाये आपके कि आपको इस वक्त क्या चाहिए आपको इस गुजरते पल का एहसास चाहिए आपको अपने धड़कन की आवाज चाहिए जिंदगी जिंदा बची है अभी आपमें जीने की वजह, हाँ … Continue reading कोई यह नहीं समझता

Used


I used to say that I liked myself Used all up now every day Used to have all dreams night play Used gases, laughs as spray Someone would say that something was crooked Someone would have not an urge Someone could have stayed all the way If someone had stayed that way I used to … Continue reading Used

सवाल, जारी रहेंगे


सवाल जिन्दगी से, हम करते रहेंगे जवाब जिन्दगी के, क्या यूँहीं मिलेंगे हर स्वाद, हर साथ, रहता नहीं जिन्दगी भर पर जिन्दगी के पन्ने, हैं कैसे, फिक्र करेंगे हर पहर कुछ छूटा, कहीं पीछे हाँ किसी ने छोड़ दिया कुछ था क्या, क्या कहा किसी ने कैसे तोड़ दिया हर बात, हर रात, सोचे क्यूँ … Continue reading सवाल, जारी रहेंगे

राशि


नया क्या कहूँ उसे, किस्से हजार सुने होंगे।ना चाहते हुए भी यारों, बदनाम कई हुए होंगे।ये नजरे थी उनकी, क्या हुस्न क्या शरारत।सब जाँच जाते राशि, बस इतनी थी शराफत। What extra would I say to admire her beauty. There are a lot of past stories to tell everything. Many men came and went. Had … Continue reading राशि

Today


TODAY is a new day. To make mistakes. To learn. For saying "no". To let go. To cherish moments. The beauty and strengts, that's within. Each day we meet a lot of people, if you are human. You got to. It's tendency of of every living creature to stay together or search someone that they … Continue reading Today

शायद, दिल से


इतनी दूर ना जाना कि पास आना हो मुश्किल और इतने पास भी ना आना कि जी ना पाएं तुम्हारे बिन दूरियाँ रखना थोड़ी क्योंकि जरूरी है जरूरत बन जाने के नहीं हुए अभी हम काबिल दूर जो हैं हम, हमें दूर ही रहने दो। फासलें कम हुए तो वे खफ़ा हो जाएंगे। हाँ हैं … Continue reading शायद, दिल से

Change


Changing cause you got to... is good.Changing for others.... is disguise.Don't got to do together with someone.. Don't use we... I got to, I understand that's much better.. There are people who make us plea... There are those who stand for us, with us... Change is compulsory, compelling.. Demand of age, sign of maturity. Yet … Continue reading Change

जानना


जानना चाहते तो हैं हमें वोपर समझनानहीं चाहतेसाथ चाहते तो हैं हमारासाथ दिखनानहीं चाहतेचाहतें उनकी हाँ अब तोउनसे ही खफ़ा हैं हो रहीचाहती हैं आँसू भी अब तोआँखों से जुदा ना हो रहीं

जिंदगी


तस्वीरों में कैद मुस्कुराहटेंझूठी हो तो किसे पताजुदा सी है जो दुनिया उनकीखुश भी हों तो..... किसे पताकिसे पता कब मिलना होकब हो आखिरी बिछड़़नकिस छोर हो साहिल उनकाकब कैसा हो दर्पण-Rishabh Kumar@myjoopress@myjoopress

हैं दोस्त, तो दोस्ती का एहसास बन सकते हैं


ज्यादा कुछ नहीं हम बातें तो कर सकते हैं जब समझ आए ना हालात जज्बात बन सकते है दिला सकते हैं हौसला, विश्वास खुदपे रखने का हैं दोस्त, तो दोस्ती का एहसास बन सकते हैं लिख सकते हैं पन्नों पर जो कुछ कभी हो कहना खामोश रह कर भी हम साथ दे सकते हैं पिला … Continue reading हैं दोस्त, तो दोस्ती का एहसास बन सकते हैं

Thinking


Really, some thoughts just keep us balanced but far from reality. Recently I noticed that however as long as we hold ourselves somewhere, contained in a particular situation, that we feel like, is best, somehow keeps us far from accepting what is actually needed at moment. Maintaining a positive environment and living in the same, … Continue reading Thinking

500 followers!! with a splash of shining Sunshine blogger award.. yippie


Thank you for Sunshine blogger award Miss Sandhya and everyone reading this that you loved my thoughts this much. I am feeling like the king of the world.. haha kidding. Today my blog reached 500 followers Thank you alll for that. 500 followers, wow.. hadn't expected I guess many of you would be familiar to … Continue reading 500 followers!! with a splash of shining Sunshine blogger award.. yippie

रास्ते मंजिल और जाने क्या


रास्ते मंजिल और जाने क्या छोड़ आए हैं हम न जाने कहाँ है वास्ता खुदी से ना किसी से यारी चल रहे हैं हम हो दुखी संसारी है पता कि गम है बाँटते नहीं हैं खुद में हो परेशान वजह जाँचते नहीं हैं क्षण भर की छाँव को समझते अपनी चादर गागर भर की चाह … Continue reading रास्ते मंजिल और जाने क्या

बचपन एक रंग अनेक


ना द्वेष, ना कोई डर, बेबाक, बेनकाब होता है।चंचलता इरादों में लिए, शरारत की दुकान होता है।हर एक नज़र पर साथी, हाँ बिल्कुल नादान सा।हठीला, मस्ती का बुलबुला, हर सुख सम-उत्कर्ष सा।दुनियादारी से दूर, आँखों में अलग सी चमक लिए।आज को जिये गलियों में, आशाओं की पतंग लिए।बचपन सचमुच, एक खुली किताब होता है।अपनो की … Continue reading बचपन एक रंग अनेक

खुद को आजमाइये


खुद को आजमाइये चले आइये मोह को भूल ना शर्माइये क्यूँ है रिश्ते, हुए बन्धनों से इतना भी ज्यादा ना घबराइये खुद को जरा और आजमाइये गलत क्या, सही क्या बचा क्या किसी का दुनिया में। दो पल हम साथ है, खुलकर जीना क्या कोई बुरी बात है! एहसासों को जिन्दा रखकर मन को पूरे … Continue reading खुद को आजमाइये