Don’t you see a lesson!


Life changes every moment, or should I say that it can get changed any moment. Our thoughts, our likes, dislikes are just a loose thread through that instant, that can be affected not just by our actions but also by the surroundings.We wish and try our best to gather all skills to reach some place. … Continue reading Don’t you see a lesson!

Living existence


Living matters, When you have those connections. To the young and the youthful elders. Living matters, When you have a caring heart. To love and also with bluffing parts. Living matters, When you have that fun. To cross fingers and master to indulge. When you are alone, Can't define your being. The bonds we make, … Continue reading Living existence

इंसानी अहं


आम नहीं, मैं खास हूँ अपने दिल की मैं आवाज़ हूँ कुछ साथ हूँ, कुछ राज हूँ बेताब मैं जज़्बात हूँ मैं याद मैं ही भूल भी मैं हँसी हूँ, मैं ही दुःख कहीं मैं कौन हूँ, मुझे है खबर मैं सार हूँ, मैं हूँ शहर मैं गाँव भी, मैं हूँ गली मैं हर जगह, … Continue reading इंसानी अहं

क्या लिखूँ


लिखना तो मैं चाहता हूँ पर कैसे कोई नई बात लिखूँ साथ लिखूँ, आवाज़ लिखूँ बिखरा बिसरा ख़्वाब लिखूँ आम हूँ मैं, क्या खास लिखूँ जो गुजरे वही अल्फ़ाज लिखूँ शब्दों के किसी संगम से दिल की अपनी बात लिखूँ याद लिखूँ, एहसास लिखूँ सिमटा सा कोई राज लिखूँ आम हूँ मैं, क्या खास लिखूँ … Continue reading क्या लिखूँ